Home Hindi पछताने से बेहतर है सुरक्षित रहिए – अपने फ़्लिपकार्ट अकाउंट को कैसे सुरक्षित रखें

पछताने से बेहतर है सुरक्षित रहिए – अपने फ़्लिपकार्ट अकाउंट को कैसे सुरक्षित रखें

0
Read this article in English | ಕನ್ನಡ | বাংলা | தமிழ் | ગુજરાતી | मराठी

जब आप ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं, तो इस बात का ध्यान रखना आवश्यक हो जाता है कि आपकी निजी जानकारी और डेटा, जैसे कि बैंक के विवरण, अकाउंट नम्बर, पासवर्ड इत्यादि सुरक्षित रहें। यदि ये जानकारियां धोखाधड़ी करने वाले लोगों के हाथ लग जाएं, तो वे जानकारियों का दुरुपयोग करने में जरा भी नहीं हिचकिचाएंगे। पर आप चिंता न करें! अपने अकाउंट को जालसाज़ लोगों से सुरक्षित रखना आपके अपने हाथ में है। क्या आपने इस बात का ध्यान रखा कि आपके फ़्लिपकार्ट अकाउंट का पासवर्ड सुरक्षित है? अपने अकाउंट को सुरक्षित रखने के तरीके जानने के लिए यहां पढ़िए।

पछताने से बेहतर है सुरक्षित रहिए – अपने फ़्लिपकार्ट अकाउंट को कैसे सुरक्षित रखें
0

दि आप फ़्लिपकार्ट पर अक्सर ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं, तो आपने आसान और सहज ट्रांजैक्शन के लिए अपने बैंक के विवरण एंटर किए होंगे और पासवर्ड सेव किए होंगे। तो जान लीजिए ऐसा करना बिल्कुल सुरक्षित है। हालांकि, ऐसी सूरत में इस बात का ध्यान रखना जरूरी हो जाता है कि आपने अपने गोपनीय बैंक विवरणों और पासवर्डों को जालसाज़ों की निगाह से बचाने के लिए तमाम उपाय किए हों। सुरक्षित और परेशानी मुक्त ऑनलाइन शॉपिंग के लिए फ़्लिपकार्ट में लॉगिन करते समय आप अपने अकाउंट को सुरक्षित रखने के लिए हर सुरक्षित उपाय अपनाएं, इसके लिए यहां सुझावों की एक पूरी सूची दी गई है।

  1. अपने फ़्लिपकार्ट मोबाइल ऐप को iOS या ऐंड्रॉयड पर नवीनतम वर्ज़न में अपडेट करें
  2. आप डेस्कटॉप, ऐप या मोबाइल-साइट पर अपने रजिस्टर्ड ईमेल और/या अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर और पासवर्ड की मदद से अपने फ़्लिपकार्ट अकाउंट में लॉगिन कर सकते हैं।
  3. इस बात का ध्यान रखें कि आप असली फ़्लिपकार्ट साइट में लॉगिन कर रहे हैं। यदि आप अपने फ़्लिपकार्ट अकाउंट में अपने डेस्कटॉप/लैपटॉप पर वेब ब्राउज़र के जरिए या किसी मोबाइल डिवाइस, जैसे कि किसी स्मार्ट फ़ोन या किसी टैब्लेट पर मोबाइल-साइट के जरिए लॉगिन कर रहे हैं, तो आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि URL https://www.flipkart.com हो। अपने URL में “https” देखना जरूरी है, क्योंकि इसका अर्थ यह होता है कि वेबसाइट का एक वैध सुरक्षा प्रमाणन है, और इसलिए यह भरोसे के लायक है। कुछ ब्राउजरों में, ऐड्रेस बार “बंद ताले” का संकेत प्रदर्शित कर सकता है, जो इस बात का संकेत है कि वह साइट सुरक्षित है। कई सारी जाली वेबसाइटें बगैर हमारी अनुमति के अवैध रूप से फ़्लिपकार्ट के आधिकारिक लोगोज़ का इस्तेमाल करते हैं, ताकि वे यूज़रों को गुमराह कर उनके डेटा चुरा सकें। इसलिए आपके लिए यह काफी महत्वपूर्ण हो जाता है कि अपने फ़्लिपकार्ट अकाउंट में साइन इन करने से पहले इस सावधानी का अवश्य ध्यान रखें। हम इन जालसाज़ो को पकड़ने के लिए कानून प्रवर्तन अधिकारियों के साथ सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं। इस बीच, आपकी ओर से बरती जाने वाली जरा सी सावधानी आपके शॉपिंग अनुभव को सुखद और सुरक्षित बनाएगी।
  4. मजबूत पासवर्ड बनाइए। अपने पासवर्ड को फ़ुल-प्रूफ और जालसाज़ों के लिए अंदाजा लगाने के लिए कठिन बनाना जरूरी हो होता है। आप यह कैसे करेंगे, इसके लिए यहां बताया गया है:

अपने फ़्लिपकार्ट अकाउंट को कैसे सुरक्षित बनाएं - इन सुझावों का पालन कीजिए

  • कैपिटल और स्मॉल अल्फ़ाबेट्स, न्युमरल्स और स्पेशल करेक्टर्स के मिश्रण वाला एक मजबूत पासवर्ड बनाइए
  • किसी अन्य अकाउंट के लिए अपने फ़्लिपकार्ट पासवर्ड का इस्तेमाल न करें
  • किसी व्यक्ति के साथ अपना पासवर्ड शेयर न करें
  • इसे कहीं पर भी लिखें नहीं
  • कभी भी ईमेल/व्हाट्सऐप/एसएमएस पर पासवर्ड शेयर न करें
  • हर महीने अपने पासवर्ड को बदलने का याद रखें। कभी भी पुराने पासवर्ड का फिर से इस्तेमाल न करें।
  • अपने नाम, मोबाइल नम्बर या जन्म तिथि को पासवर्ड के रूप में इस्तेमाल न करें
  • यदि आप अपना पासवर्ड याद नहीं रख सकते, तो फ़्लिपकार्ट वेबसाइट या ऐप्स पर इसे दोबारा प्राप्त करने के लिए “फ़ॉर्गॉट पासवर्ड” विकल्प का इस्तेमाल करें। यह आपके अकाउंट को दोबारा एक्सेस करने का सबसे सुरक्षित तरीका है।
  • यदि आप पब्लिक कम्प्यूटरों या किसी अन्य व्यक्ति के मोबाइल से फ़्लिपकार्ट पर लॉगिन करते हैं, तो इस बात का ध्यान रखिए कि “रिमेम्बर मी” यानि के “मुझे याद रखें” बॉक्स अनचेक्ड हो।
  • अपने अकाउंट को दोबारा प्राप्त करने के लिए आपको मिले OTP (वन टाइम पासवर्ड्स) को किसी को न बताएं
  • यदि आप साइबर-कैफ़े या पब्लिक इंटरनेट ब्राउज़िंग सेंटर से किसी कंप्यूटर से या यहां तक कि अपने ऑफ़िस के कम्प्यूटर से फ़्लिपकार्ट में लॉगिन करते हैं, तो इस बात का ध्यान रखें कि आपने अपने अकाउंट से लॉग आउट कर लिया है, अपने ब्राउज़र कैश मैमोरी को खाली कर दिया है और हटने से से पहले अपने ब्राउज़र विंडो को बंद कर दिया है। जब आप अपने डेस्क से दूर हों, तो अपने डेस्कटॉप से लॉक करना न भूलें।
  • अपने मोबाइल फ़ोन को हमेशा पिन कोड लॉक्स, फिंगरप्रिंट लॉक या टच आइडी (iPhone यूजरों के लिए) से लॉक करें, क्योंकि इससे जालसाज़ लोग आपके फ़ोन पर मौजूद फ़्लिपकार्ट ऐप समेत अन्य महत्वपूर्ण ऐप्स को ऐक्सेस नहीं कर पाएंगे।
  • किसी व्यक्ति को आप अपने डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड नम्बर या CVV (कार्ड वेरिफ़िकेशन वैल्यू) कभी न बताएं। फ़्लिपकार्ट अधिकृत एजेंट कभी आपको कॉल कर आपसे ये विवरण नहीं मांगेंगे।


अपने फ़्लिपकार्ट अकाउंट में लॉगिन नहीं कर पा रहे हैं? चिंता न करें! यहां इसका उपाय दिया गया है

अपने डेटा और ऐक्सेस विवरणों को सुरक्षित रखना हमारी एक बड़ी प्राथमिकता है। भले ही आप अपने पासवर्ड को अपडेट करना भूल जाएं, हम आपको इसकी याद कराएंगे। इसलिए, अपने फ़्लिपकार्ट अकाउंट को सुरक्षित रखने के लिए, आपसे समय-समय पर अपने पासवर्ड को अपडेट करने को कहा जा सकता है।

  • यदि आपको लगे कि आप अपने पुराने पासवर्ड के सहारे अपने अकाउंट में लॉगिन नहीं कर पा रहे हैं, तो अपने पासवर्ड को रीसेट करने के लिए “फॉर्गॉट पासवर्ड” विकल्प पर क्लिक करें।
  • कृपया इस बात का ध्यान रखें कि आप अपने अकाउंट की सुरक्षा तथा अपने सभी ऑर्डरों की गोपनीयता को बनाए रखने के लिए अपने फ़्लिपकार्ट के लॉगिन विवरणों को किसी को भी न बताएं।

नोट: यदि आपको कई OTP या “फॉर्गॉट पासवर्ड” अनुरोध मिलते हों, तो इस बात की संभावना हो सकती है कि कोई आपके अकाउंट में सेंध लगाने की कोशिश कर रहा है। इसे अधिक मजबूत पासवर्ड से सुरक्षित करना न भूलें।


यदि आपको संदेह हो कि आपके अकाउंट के साथ छेड़छाड़ की गई है और आप अपने अकाउंट में लॉगिन नहीं कर पा रहे हैं, तो कृपया फ़्लिपकार्ट हेल्प सेंटर से संपर्क करें या फ़्लिपकार्ट कस्टमर केयर से बात कर मामले की सूचना दें।

अपने बैंकिंग डेटा (जैसे कि क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड) के साथ छेड़छाड़ की किसी घटना की सूचना देने के लिए, कृपया अपने बैंक के कस्टमर सपोर्ट हेल्पलाइन पर बात करें।

अपने फ़्लिपकार्ट अकाउंट को सुरक्षित रखना मन की शांति को बनाए रखने के लिए एक जरूरी कदम है। इस आलेख को अपने प्रियजनों और दोस्तों के साथ शेयर कीजिए, ताकि वे भी सुरक्षित शॉपिंग कर सकें।

यह भी पढ़ें: स्कैम ऐडवाइज़री – जालसाज़ साइटों और फ़्लिपकार्ट के नाम से गुमराह करने वाले ऑफ़रों से सावधान रहें

Enjoy shopping on Flipkart

About the Author

Team Flipkart Stories
Team Flipkart Stories

यह कहानी फ्लिपकार्ट स्टोरीज़ एडिटोरियल टीम द्वारा लिखी और संपादित की गई थी। हमारे साथ संपर्क करने के लिए, कृपया संपर्क फ़ॉर्म का उपयोग करें, या हमें ट्विटर या फेसबुक पर एक संदेश भेजें।