1. Home
  2. Hindi
  3. बधाई हो! आप जीते हैं… : नहीं, उस जाली मैसेज के झांसे में न आएं

बधाई हो! आप जीते हैं… : नहीं, उस जाली मैसेज के झांसे में न आएं

0
Read this article in বাংলা | English | ગુજરાતી | ಕನ್ನಡ | தமிழ் | मराठी

जाली मैसेज या कॉल का एक ही उद्देश्य होता है: आपके मेहनत से कमाए पैसे को लूटना और आपके संवेदनशील डेटा को चुराना। ऐसे मेसैज वायरल हो जाते हैं और ऐसे कॉल्स असली लगते हैं। पर, लालच में फंसने की बजाए सबसे अच्छा होगा कि इसका विरोध करें और सूचना दें। जाली मैसेज और कॉल से सक्रिय रूप से निपटने का तरीका जानने के लिए पढ़ते रहें।

बधाई हो! आप जीते हैं… : नहीं, उस जाली मैसेज के झांसे में न आएं
0

प्रिय फ्लिपकार्ट ग्राहक, बधाई हो! आप जीते हैं …” – इस तरह का एक जाली मैसेज काफी लुभावना दिखाई पड़ सकता है, पर वास्तव में यह एक झांसा होता है। ई-कॉमर्स के काफी तेजी से लोकप्रिय होने के साथ ही, धोखेबाज लोग भी उपभोक्ताओं को फांसकर आसानी से कमाई करने के तरीके ढूंढते रहते हैं और वह भी फ्लिपकार्ट के भरोसेमंद नाम को इस्तेमाल करके। पर आप चिंता न करें! क्लिक करने से बचें। विवरण देने से बचें। फॉरवर्ड करने से बचें। यदि आप किसी जाली मैसेज या कॉल के जरिए दिए गए प्रलोभन का विरोध करते हैं, तो धोखाधड़ी करने वाले लोग आपको कभी फांस नहीं पाएंगे।

आसान लगता है न? हां, यह है भी। यहां जाली मैसेज या कॉल मिलने की सूरत में उठाए जाने वाले सर्वोत्तम कदमों की सूची दी गई है।

जाली मैसेज भेजते समय स्कैमर जो युक्ति अपनाते हैं

धोखाधड़ी करने वाले लोग अपनी योजना में ग्राहकों को फंसाने के लिए हर संभव प्रयास करते हैं। यहां ऐसी आम युक्तियां दी गई हैं, जिनका वे इस्तेमाल करते हैं।

उनके टेक्स्ट का उद्देश्य आपको लुभाना होता है: जालसाजी करने वाले लोग अविश्वसनीय ऑफ़रों या ख़बरों के साथ आपको मेसैज भेजते हैं, ताकि ग्राहक उनके लिंक को क्लिक कर उनके द्वारा मांगे जाने वाले विवरण प्रदान कर दे। यहां टेस्क्ट के कुछ उदाहरण हैं, जिन्हें आप किसी जाली मैसेज में देख सकते हैं:

    • “लिंक पर क्लिक करें और अभी अपना फ्री गिफ़्ट क्लेम करें!”
    • “यहां क्लिक करें और रु.10,000 का गिफ़्ट कार्ड क्लेम करें।”

वे ऐसा दिखाएंगे कि वे असली हैं:

      • जालसाज लोग खुद को आधिकारिक फ्लिपकार्ट प्रतिनिधियों के रूप में दिखाते हैं। इसलिए, किसी नकली एसएमएस में ‘कस्टमर सपोर्ट’ नम्बर मौजूद रहता है, और दूसरी ओर नकली कॉल पर मौजूद स्कैमर खुद को ‘फ्लिपकार्ट अकाउंट मैनेजर’ के रूप में पेश कर सकते हैं। यहां तक कि आपके जीते हुए फ़्री गिफ़्ट को भेजने के लिए आपसे एक छोटी रकम भी ट्रांसफर करने को कहा जा सकता है।

वे आपके संवेदनशील डेटा हासिल करना चाहते हैं: जालसाज लोग अपने जाली मैसेज के जरिए आपसे ज्यादा से ज्यादा निजी और वित्तीय जानकारी हासिल करना चाहते हैं। उनके लिंक आपको किसी नकली फ्लिपकार्ट वेबसाइट पर ले जा सकते हैं, जिनमें ऐसे फॉर्म मौजूद रहते हैं, जिनके जरिए आपका डेटा हासिल कर लिया जाता है। यहां तक कि आपसे कोई संदेहास्पद ट्रांजैक्शन भी करवा सकते हैं और उनके लिंक आपके डिवाइस को इंफेक्टेड करने का मार्ग भी हो सकते हैं।

जाली मैसेज और उनसे निपटने के तरीके

जाली मैसेज

आपको एसएमएस के जरिए जाली मैसेज मिल सकता है, साथ ही ये आपको व्हाट्सऐप, फेसबुक मेसेंजर, टेलीग्राम या अन्य सोशल मेसैजिंग प्लैट्फॉर्म पर भी मिल सकते हैं। व्हाट्सऐप या सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म की स्थिति में, स्कैमर नकली इंवॉइस की कॉपी भी अपलोड कर सकता है या असली दिखने वाले ब्रांडिंग के साथ मेसैज भी भेज सकता है, जो बिल्कुल असली दिखाई पड़ते हैं। प्रमाण के तौर पर वे नकली फ्लिपकार्ट आइडी भी पेश कर सकते हैं।

यदि आपको कोई जाली मैसेज मिलता है या आपको उसकी प्रामाणिकता पर शक हो, तो इन सुझावों का पालन करें:

        • किसी भी लिंक पर क्लिक न करें
        • निजी या वित्तीय जानकारी न दें
        • उस नम्बर पर कॉल बैक न करें
        • मेसैज को फॉरवर्ड न करें
            आपको यह करना चाहिए कि आप स्कैम के बारे में फ्लिपकार्ट को अलर्ट करें या

टोल-फ्री कस्टमर केयर नम्बर

          • (1800 208 9898) पर संपर्क करके या ट्विटर पर फ्लिपकार्ट सपोर्ट (@flipkartsupport) को डाइरेक्ट मेसेज (डीएम) भेजकर अपने संदेह को दूर करें। ऐसा करते समय, जालसाजी करने वाले का फ़ोन नम्बर और प्राप्त हुए संदेहास्पद मेसैज का स्क्रीनशॉट जैसे विवरण प्रदान करें।

यहां ऐसे तरीके दिए गए हैं, जिसके जरिए फ्लिपकार्ट से संपर्क कर सकते हैं।

जाली कॉल और ऐसे कॉल मिलने पर क्या करना चाहिए

स्कैमर आपसे किसी अज्ञात नम्बर से संपर्क कर सकता है और असली लगने के लिए, फ्लिपकार्ट या इसकी ग्रुप कंपनियों, जैसे कि मिंत्रा, जबोंग, जीवीस या फ़ोनपे का प्रतिनिधि होने का ढोंग कर सकते हैं। यहां तक कि वे आपसे अंग्रेजी या हिंदी में या आपकी पसंद की क्षेत्रीय भाषा में बातचीत कर सकते हैं। उनकी बातचीत किसी शानदार डील के बारे में हो सकती है जिसके लिए आप योग्यता रखते हों या कोई जरूरी अकाउंट कार्यवाही के बारे में हो, जो आपको करने को कहा जा सकता है।

उन कॉल को लेकर सतर्क रहें, जो इस बारे में हो:

            • आप जीते हैं फ़्री गिफ़्ट
            • आप किसी लकी ड्रॉ के विजेता बने हैं
            • आपका फ्लिपकार्ट अकाउंट अटेंशन

ऐसे कॉलों से निपटने का सबसे अच्छा तरीका है:

                • डिस्कनेक्ट कर दें
                • कोई भी विवरण (CVV, PIN, OTP, ई-वॉलेट विवरण, बैंक अकाउंट नम्बर) न दें
                • स्पष्टीकरण के लिए आधिकारिक कस्टमर सपोर्ट लाइन 1800 208 9898 पर कॉल करें।

नकली ईमेल और उनका जवाब कैसे दिया जाए

जाली मैसेज

आपको ईमेल के जरिए जाली मैसेज मिल सकता है। इस विधि को फ़िशिंग के नाम से जाना जाता है। ईमेल के पीछे भी स्कैमर का लक्ष्य निजी और वित्तीय जानकारी चुराना होता है और शायद आपसे भुगतान भी कराना होता है। ऐसा करने के लिए, ईमेल आपको एक आकर्षक कूपन ऑफ़र कर सकता है या आपका ध्यान किसी बहुत ही लुभावनी डील (जैसे कि 32 GB पेन-ड्राइव सिर्फ ₹25 में) की ओर खींच सकता है।

जाली मेसैज

यदि आपको ईमेल की प्रामाणिकता पर संदेह हो या आपको लगता हो कि यह किसी अनाधिकृत डोमेन (न कि Flipkart.com) से आया है, तो इन युक्तियों का सहारा लें:

                    • उस ईमेल जा जवाब न दें
                    • किसी भी लिंक पर क्लिक न करें
                    • ईमेल में दिए किसी भी लिंक से कोई भुगतान न करें

हमेशा की तरह ही, जब आपको लगे कि आपको कोई जाली मैसेज मिला है, तो टोल-फ्री नम्बर या ट्विटर के जरिए फ्लिपकार्ट से संपर्क करें।

संक्षेप में कहें, विरोध करना और सूचना देना ऐसी दो सबसे अच्छी चीजें हैं, जो आप किसी जाली मैसेज मिलने पर कर सकते हैं।

किसी भी मौजूदा डील को खोने की चिंता न करें! आपको जिन जानकारियों की जरूरत होती है उन्हें आप पा सकते हैं:

अधिक साइबरसिक्योरिटी युक्तियों के लिए, हमारी मास्टर गाइड पढ़ें।

Enjoy shopping on Flipkart

About the Author

Jishnu Murali

जिष्णु मुरली फ्लिपकार्ट स्टोरीज़ के साथ एक लेखक हैं। वह भोजन, इतिहास और परंपरा के माध्यम से विभिन्न संस्कृतियों का अनुभव करना पसंद करते हैं। संगीत और गहरा हास्य उसे बनाए रखता है।

jQuery('.more').click(function(e) { e.preventDefault(); jQuery(this).text(function(i, t) { return t == 'close' ? 'Read More' : 'close'; }).prev('.more-cont').slideToggle() });