#FightFraudWithFlipkart – ओटीपी धोखाधड़ी से खुद को सुरक्षित रखने के लिए इसे पढ़े।

Read this article in বাংলা | English | தமிழ் | मराठी | ಕನ್ನಡ | ગુજરાતી

नियमित ऑनलाइन खरीददारों के लिए ओटीपी केवल प्रक्रिया का एक हिस्सा है, लेकिन ये गुप्त कोड आपके कीमती डेटा की सुरक्षा करते है! ओटीपी को लेकर सावधानी बरतने और ऐसी संवेदनशील जानकारी को साझा करने के बारे में खुद को शिक्षित करके हम खुद को ऑनलाइन चोरी, धोखाधड़ी और संवेदनशील जानकारी के नुकसान से बचा सकते है। आपका ओटीपी साझा करना क्यों खतरनाक हो सकता है और आवश्यकता पड़ने पर आप इसे कैसे सुरक्षित कर सकते है यह जानने के लिए आगे पढ़े।

OTP

से समय में जब आपकी अधिकांश संवेदनशील जानकारी डिजिटल हो गई है और अब आपको लगभग सभी डिजिटल लेन-देन के लिए ओटीपी की आवश्यकता होती है, इस गुप्त कोड को लेकर विशेष रूप से सतर्क रहना अब विशेष रूप से प्रासंगिक है क्योंकि डेटा दिखाता है कि ओटीपी धोखाधडी 2017 से लगातार बढ़ रही है। 2020 में ऐसे 1091 मामले दर्ज किए गए थे।

आपके फ्लिपकार्ट अकाउंट पर लॉग इन करने, पेमेंट करने, अपना मोबाइल नंबर अपडेट करने, अपनी ई-मेल की जानकारी बदलने या आपका पासवर्ड बदलने के लिए आपको प्राप्त होने वाले सभी ओटीपी अत्यधिक संवेदनशील प्राधिकरण कोड हैं। वे केवल एक सत्र या लेन-देन के लिए मान्य है एवं वे आपकी निजी जानकारी को सुरक्षित रखने के लिए, टू -फॅक्टर प्रमाणीकरण तंत्र या 2FA का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।

आपको अपना ओटीपी गुप्त क्यों रखना चाहिए?

आपके फ्लिपकार्ट अकाउंट में आपका नाम, मोबाइल नंबर, जन्म तिथि, ई-मेल आई डी, पता और यहां तक कि भुगतान की जानकारी जैसे विवरण शामिल होते हैं। जोखिमों में पहचान की चोरी, वित्तीय नुकसान, डिजिटल घोटालों की बढ़ती असुरक्षा या उत्पीड़न शामिल हैं। ऐसी जानकारी अगर गलत हाथों में पड़ जाए तो यह आपके लिए भारी नुकसान का कारण बन सकती है।

इसी तरह, वित्तीय लेन-देन के दौरान अपनी ओटीपी दूसरों के साथ साझा करने के भी कई जोखिम हैं। इस कोड के पता चलने पर धोखाधड़ी करने वाला आपकी सभी जानकारी तक पहुँच सकता है। फ्लिपकार्ट के प्रतिनिधि कभी भी कॉल या टेक्स्ट के माध्यम से भुगतान के लिए ओटीपी नहीं मांगेंगे। जालसाज खरीदारी या लेनदेन को पूरा करने की आड़ में आपसे कह सकते हैं कि यह प्रक्रिया को पूरा करने का एक सुझाया गया तरीका है। अपना ओटीपी साझा करके आप उनको आपके अकाउंट का उपयोग करने की अनुमति देते है, जिसका उपयोग गलत उद्देश्यों के लिए किया जा सकता है। आपको इस तरह की युक्तियों से सावधान रहना चाहिए।

फ्लिपकार्ट आपको किन कारणों से ओटीपी भेजता है?

चूंकि ओटीपी केवल एक लेनदेन या लॉग इन सत्र के लिए मान्य है इसलिए आप जो कार्रवाई शुरू करते हैं, उसके आधार पर फ्लिपकार्ट अलग-अलग ओटीपी भेजता है। आपको किन स्थितियों में ओटीपी मिलेंगे और फ्लिपकार्ट द्वारा भेजे गए मैसेज कि पहचान कैसे करनी है, इनपर जानकारी देने के लिए ये रहे ओटीपी मैसेज के कुछ उदाहरण।

1. आपके फ्लिपकार्ट अकाउंट में लॉग इन करने के लिए आपको प्राप्त होने वाला ओटीपी मैसेज:

OTP

2. फ्लिपकार्ट अकाउंट पर आपका फोन नंबर अपडेट करने के लिए प्राप्त होने वाला ओटीपी मैसेज:

OTP

3. फ्लिपकार्ट अकाउंट पर आपका पासवर्ड बदलने के लिए प्राप्त होने वाला ओटीपी मैसेज:

OTP

उसी तरह आपको अपने पंजीकृत ई-मेल आईडी पर ओटीपी के साथ ई-मेल भी मिल सकता है।

OTP

4: फ्लिपकार्ट अकाउंट पर अपना ई-मेल बदलने के लिए ओटीपी मैसेज वाला एक ई-मेल:

OTP

5: डेबिट या क्रेडिट कार्ड या नेट बैंकिंग का उपयोग करके सामान ऑर्डर करने के लिए आपको प्राप्त होने वाला ओटीपी:

OTP

आप कब और किसके साथ आपका ओटीपी साझा कर सकते हैं?

अधिकांश ओटीपी केवल आपके लिए हैं, लेकिन ऐसे भी कुछ ओटीपी हैं जिन्हें आप अधिकृत कर्मियों के साथ साझा कर सकते हैं। यहां कुछ उदहारण दिए गए हैं:

  • कीमती सामानों की डिलीवरी के समय।
    आपको एक मैसेज प्राप्त होगा और डिलीवरी पूरी करने के लिए फ्लिपकार्ट विशमास्टर के साथ आपको अपना ओटीपी साझा करना होगा।

OTP

  • कैश ऑन डिलीवरी ऑर्डर का सामान वापस भेजने की प्रक्रिया शुरू करते समय।
    आपको ओटीपी प्राप्त होगा जिसे आपको कॉल पर साझा करना होगा।

इस बात का ध्यान रखें कि कीमती वस्तुओं की डिलीवरी के दौरान आपको केवल अधिकृत फ्लिपकार्ट विशमास्टर के साथ ही अपना ओटीपी साझा करना है। उन्हें आपके ओटीपी की पुष्टी करनी होगी और आपको वस्तू सौंपनी होगी। वापसी के मामले में, वापस की हुई वस्तू के विवरण की पुष्टी करके प्राप्त होने वाला ओटीपी साझा करें। किसी अन्य के साथ अपना ओटीपी साझा न करें। आपके लॉग इन ओटीपी के लिए, पासवर्ड रीसेट ओटीपी या वित्तीय लेनदेन ओटीपी के लिए फ्लिपकार्ट कभी भी फोन या टेक्स्ट के माध्यम से ग्राहकों से संपर्क नहीं करता है।

सर्वोत्तम सुरक्षा प्रथाएं क्या है?

आपकी संवेदनशील जानकारी और आपके गुप्त ओटीपी कोड के सुरक्षा के लिए सही आदतें विकसित करने के लिए यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं।

  • कोई भी वित्तीय संस्थान या ई-कॉमर्स सेवा प्रदाता आपको अपनी ओटीपी पढ़कर सुनाने के लिए कभी नहीं कहेगा। यदि कोई आपको ऐसा करने के लिए कहता है तो उनके निर्देशों का पालन न करें और कॉल काट दें।
  • यदि आप फोन कॉल के माध्यम से किसी प्लॅटफॉर्म पर कोई वस्तू या सेवा बुक कर रहे हैं तो आपको कीपैड का उपयोग करके अपना ओटीपी कोड दर्ज करने के लिए कहा जाएगा। कॉल चलने के दौरान न तो ओटीपी बताए या पढ़कर सुनाए।
  • अज्ञात नंबरों से SMS के जरिए भेजी हुई लिंक से बचे। यह आपके डिवाइस पर कब्जा करने और आपकी निजी जानकारी तक पहुँचने का प्रयास है।
  • ओटीपी वाला टेक्स्ट या मैसेज किसी को आगे न भेजें।
  • ओटीपी दर्ज करने से पहले डेबिट की जाने वाली राशि की दोबारा जांच कर लें। ओटीपी मैसेज में बेचने वाले का नाम और किसी भी अन्य जानकारी की जांच अवश्य करें। यदि कोई विवरण मेल नहीं खाता है, तो तुरंत लेनदेन को रद्द कर दें।

इस नियमों का पालन करके आप न केवल फ्लिपकार्ट पर, बल्कि किसी भी अन्य डिजिटल लेनदेन के दौरान सुरक्षित रूप से खरीदारी कर सकते हैं। अपने ओटीपी का सावधानी से उपयोग करें और फ्लिपकार्ट ऐप या वेबसाईट के माध्यम से बिना किसी परेशानी या चिंता के ऑनलाइन खरीदारी का आनंद लें!

हमारे ब्लॉग पढ़ें इस तरह की उपयोगी सुझाव और सुरक्षित खरीदारी पर अन्य उपयोगी संसाधनों को खोजने के लिए।

Enjoy shopping on Flipkart

0 Shares
Share
Tweet
Share
WhatsApp
Telegram