अटूट सपने: सूरत का एक पारिवारिक व्यवसाय ई-कॉमर्स के माध्यम से अनिश्चितता का मुकाबला करता है

Read this article in English | বাংলা | தமிழ் | ಕನ್ನಡ | ગુજરાતી | मराठी

अंकुर तुलसियन के ऊपर बड़ी ज़िम्मेदारी आई, जब उनके पिता ने पीढ़ियों से परिवार में चल रहे कपड़ा कारोबार को उसे सौंपा। व्यवसाय को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के बड़े सपने के साथ, अंकुर ने फ्लिपकार्ट सैलर बनने के लिए साइन अप किया। नई साझेदारी ने उन्हें चुनौतीपूर्ण समय में भी कमाई बनाए रखने में मदद की। यहाँ उनकी कहानी है, उनके अपने शब्दों में।

selling online

इस कहानी में: जब ऑनलाइन बिक्री ने इस फ्लिपकार्ट सैलर को अपने पारिवारिक व्यवसाय को बढ़ाने, अनिश्चितता का मुकाबला करने और अपने, और पूर्वजों के सपनों को साकार करने में मदद की ‘!

पड़ा उद्योग सूरत, गुजरात में सबसे पुराना और सबसे व्यापक उद्योग होते हुए, इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि इस शहर ने सदियों से भारत के सिल्क सिटी के रूप में प्रसिद्धि प्राप्त की। शहर की आबादी का एक बड़ा हिस्सा कपड़ा उद्योग से जुड़ा हुआ है और शहर देश में कपड़ों के लिए वाणिज्यिक केंद्र बना हुआ है।

सूरत में कई कपड़ा व्यवसाय मालिकों में से एक हैं फ्लिपकार्ट सैलर जो एक पीढ़ियों से चले आ रहे पारिवारिक व्यवसाय को चला रहे हैं। ई-कॉमर्स की दुनिया में प्रवेश करने और ऑनलाइन बिक्री ने इस सैलर को अपने व्यवसाय को उन ऊंचाइयों पर ले जाने में मदद की जिसकी उसके पूर्वजों की केवल कल्पना की थी। यह है अंकुर तुलसियनकी कहानी, उनके अपने शब्दों में।


मेरा नाम अंकुर तुलसियन है और मेरा ब्रांड आनंद साड़ीज़ है। पीढ़ियों से, मेरे परिवार का नाम सूरत के कपड़ा उद्योग में रहा है और अब हम अपनी विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं। मेरे पिता का जन्म और पालन-पोषण दिल्ली में हुआ था। सूरत शिफ्ट होने से पहले उन्होंने कुछ समय तक वहां काम किया। मेरा जन्म यहीं हुआ और मैं जीवन भर यहीं रहा।


एक मूल्यवान सैलर और साझेदार, आनंद साड़ीज़ के अंकुर ने इस चुनौतीपूर्ण समय के दौरान फ्लिपकार्ट को इसके सहयोग के लिए धन्यवाद देते हुए और ग्राहकों को अपने व्यवसाय में सुरक्षा सावधानियों की जानकारी देने के लिए एक दिल को छू लेने वाला वीडियो बनाया। अधिक जानकारी के लिए वीडियो देखें:

YouTube player

हम कोर मैनुफैक्चरिंग या इन-हाउस प्रोडक्शन में शामिल हैं। धागे से लेकर तैयार साड़ी बनाने तक, सब कुछ घर में किया जाता है। हमारे पास एक बुनाई यूनिट और एक प्रोसेसिंग हाउस है। सूरत में हमारा रिटेल स्टोर नहीं है, लेकिन हमारे पास एक होलसेल स्टोर है।

मैंने विशेष रूप से कपड़ा उद्योग के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन बिक्री के बीच एक अंतर देखा है। ऑफलाइन बिक्री करते हुए, हमें लगभग छह महीने तक इंतजार करना पड़ता है, इससे पहले कि हमें इस बात का कोई डेटा मिले कि ग्राहक हमारे डिजाइनों और सामग्रियों पर कैसे प्रतिक्रिया दे रहे हैं। हमें तब तक इंतजार करना पड़ता है जब तक ग्राहक रिटेल दुकानों पर हमारे द्वारा पेश किए जाने वाले प्रोडक्ट्स को देखना शुरू कर देते हैं और फिर हम ग्राहकों की प्रतिक्रिया से सुधार के क्षेत्रों का पता लगाते हैं। ऑनलाइन, प्रक्रिया बहुत आसान और तेज है। हमारे प्रोडक्ट्स को लिस्ट करने के एक सप्ताह के भीतर, हमारे पास प्रयोग करने योग्य डेटा होता है कि कैसे हम डिजाइनों को मोडिफाई कर सकते हैं और कपड़ों में अधिक कैटेगरीज़ में उनका विस्तार कर सकते हैं। डेटा हमें बदलते ट्रेन्ड के साथ अप-टू-डेट भी रखता है। हमें ग्राहकों की प्रतिक्रिया लगभग तुरंत मिल जाती है और जो हमें अनुकूल बनने में मदद करती है।

“ग्राहकों की प्रतिक्रिया के संबंध में ऑनलाइन और ऑफलाइन बिक्री के बीच का अंतर थिएटर और सिनेमा की तरह है। ऑनलाइन बिक्री करने पर, आपको अपने दर्शक लाइव और तुरंत प्रतिक्रिया करते हुए दिखते हैं।”- अंकुर तुलसियन, आनंद साड़ीज़, फ्लिपकार्ट सैलर

कोविड-19 लॉकडाउन के बीच, हमारी कपड़ा बिक्री घट गई थी। मैं गैर-जरूरी वस्तुओं पर प्रतिबंध हटाने के लिए सरकार का इंतजार कर रहा था और जब समय आया, मैंने कर्मचारियों के लिए पास उपलब्ध कराए और सुरक्षित रहने के लिए हर ज्ञात सावधानी बरती। फ्लिपकार्ट के साथ हमारी साझेदारी बहुत फलदायी रही है। जब मैं फ्लिपकार्ट का सैलर बन गया, तब मुझे व्यवसाय के विस्तार के और अधिक अवसर मिले।

फ्लिपकार्ट के साथ काम करने से मेरे व्यवसाय को काफी मदद मिली है। यह सपने के सच होने जैसा है!

जैसा जिष्णु मुरली को बताया गया, साथ में पल्लवी सुधाकर द्वारा अतिरिक्त जानकारी।

यह भी पढ़ें: फ्लिपकार्ट पर ऑनलाइन बिक्री, इस घर से लगाव वाले एंटरप्रेन्योर ने वापस घर में आकर व्यवसाय शुरू कर दिया!

Enjoy shopping on Flipkart

0 Shares
Share
Tweet
Share
WhatsApp
Telegram